दर्दनाक! मंडी में प्याज की सही कीमत ना मिलने पर किसान को आया हार्ट-अटैक, नाबालिग बेटे के सामने तोड़ा दम

भोपाल: देश का पेट भरने वाले किसान की हालत आज इतनी खराब है की उसे खुद भूखा रहना पड़ रहा है. इसकी असल वजह किसानों के उपज की सही कीमत ना मिलना है. ऐसा ही कुछ वाकिया मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के मंदसौर (Madsaur) में हुआ है. जहां रहने वाले एक किसान की मौत इसलिए हो गई क्योकि मंडी में उसकी फसल की सही कीमत नहीं मिली.

जानकारी के मुताबिक मंदसौर जिले की मल्हारगढ़ तहसील के उजागरिया गांव का किसान भेरूलाल मालवीय अपने पास की मंडी में 27 क्विंटल प्याज बेचने आया था. जहां उसे प्याज के दाम सुनकर हार्ट अटैक आ गया. दरअसल किसान को उसकी लागत भी नहीं निकल रही थी. मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो भेरूलाल को 27 क्विंटल प्याज के सिर्फ 10 हजार 45 रुपये दाम ही मिल सके. इस कारण उसे तगड़ा सदमा लगा और हार्ट अटैक आ गया.

यह भी पढ़े- लोकसभा चुनाव 2019: किसानों की नाराजगी दूर करने के लिए बड़े पैकेज की घोषणा कर सकती है मोदी सरकार

मज़बूरी में 40 साल के भेरूलाल ने मंडी में प्याज तो बेच दी लेकिन जैसे ही उसे व्यापारी से पैसे मिले तो उसके सीने में दर्द होने लगा. वह सदमे के कारण अचानक गिर पड़ा. जिसके बाद तत्काल भेरूलाल को अस्पताल ले जाया गया, जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई.

भेरूलाल का नाबालिग पुत्र भी अपने पिता के साथ प्याज बेचने के लिए मंडी आया था. इस दर्दनाक हादसे के बाद उसने बताया कि प्याज बेचने के बाद अचानक पापा को सीने में दर्द हुआ और उनकी मौत हो गई. वहीं परिजनों का आरोप है कि प्याज के सही दाम नहीं मिलने के कारण भेरूलाल की मौत हुई है इसलिए सरकार को मदद करनी चाहिए.

किसानों को रुला रही है प्याज-

प्याज के दाम में भारी गिरावट के बाद केंद्र सरकार ने प्याज के निर्यात पर प्रोत्साहन को दोगुना कर दिया है. किसानों को अधिक मूल्य दिलाने की कवायद के तहत उठाए गए इस कदम के बावजूद भी किसानों की हालत जस की तस बनी हुई है. हालत इतने ख़राब है कि किसानों की उनकी लागत भी नहीं मिल पा रही है. ऐसे में मंडी में ले जाने का खर्चा भी किसानों को अपनी जेब से देना पड़ रहा है.

भारत ने इस साल अप्रैल से अक्टूबर के बीच 25.6 करो़ड़ डॉलर के प्याज का निर्यात किया. पिछले साल की इसी अवधि में यह आंकड़ा 51.15 करोड़ डॉलर का रहा था. कर्नाटक, गुजरात और मध्य प्रदेश जैसे राज्यों में अच्छी बारिश के कारण प्याज का बहुत अधिक उत्पादन हुआ है.

स्टांप पेपर घोटाला: मौत के एक साल बाद कोर्ट से बरी हुआ अब्दुल करीम तेलगी

मुंबई: देश के सबसे चर्चित स्टांप पेपर घोटाले मामले में नासिक की एक अदालत ने दोषी करार दिए गए अब्दुल करीम तेलगी (Abdul Karim Telgi) के मौत के एक साल बाद बरी कर दिया है. कोर्ट ने इस मामले में तेलगी के साथ अन्य आठ आरोपियों को भी बरी किया है. इन सभी आरोपियों को अदालत ने सबूतों के अभाव में बरी किया है. इस मामले की सुनवाई कर रहे जिला जज पी आर देशमुख ने सोमवार को इस फैसले की सुनवाई करते हुए इन सभी आरोपियों को बरी किया है.

बता दें कि स्टांप पेपर घोटाले मामले में कोर्ट ने अब्दुल करीम तेलगी को 30 साल की सश्रम कारावास की सजा सुनाते हुए तेलगी पर 202 करोड़ रुपये का जुर्माना भी लगाया गया था. सजा के बाद तेलगी बेंगलुरु के पाराप्पाना अग्रहारा सेंट्रल जेल में सजा काट रहा था. लेकिन पिछले साल अक्टूबर महीने में एड्स, डायबिटीज, हायपरटेंशन सहित कई अन्य बीमारियों से जकड़ने के चलते उसके शरीर के अंग काम करना बदं कर दिए थे. जिसकी वजह से बेंगलुरु के एक सरकारी अस्पताल में इलाज के दौरान उसका निधन हो गया. तेलगी के मौत के बाद कोर्ट ने उसके खिलाफ आरोप को हटा दिया. यह भी पढ़े: पीएनबी घोटाला : सीबीआई ने इलाहाबाद बैंक की सीईओ उषा समेत 22 अन्य के खिलाफ दाखिल किया आरोपपत्र

क्या है स्टांप पेपर घोटाला मामला

बता दें कि हजारों  करोड़ रुपए के स्टांप पेपर घोटाले की शुरुआत 90 के दशक के शुरुआती साल में हुई थी. तेलगी पर आरोप था कि वह नकली स्टांप पेपर छापकर बेचता था. कहा जाता है कि तेलगी ने स्टांप पेपर की ब्रिक्री के लिए सैकड़ों लोगों को नियुक्त किया था और उनकी मासिक आय कई करोड़ रुपये थी. 1995 में तेलगी के खिलाफ मामले दर्ज किए गए लेकिन गिरफ्तारी 2001 में ही हो सकी.

पुलिस अधिकारी और इन नेताओं के नाम आया सामने 

अब्दुल करीम तेलगी की गिरफ्तारी के बाद कई नेताओं के साथ-साथ पुलिस के कई आला अधिकारी भी हिरासत में लिए गए. गिरफ्तार पुलिस अधिकारियों में प्रमुख हैं – मुंबई पुलिस के आयुक्त आरएस शर्मा, संयुक्त आयुक्त श्रीधर वघल और समाजवादी पार्टी और तेलुगूदेशम के एक-एक विधायक को गिरफ्तार किया गया.

साल 2018 में भारतीय बल्लेबाजों की वो तीन परियां जो फैंस की यादों में रहेंगी हमेशा ताजा

साल 2018 अपने आखिरी पढ़ाव पर चल रहा है, वहीं कुछ घंटो में साल 2019 का शुरुआत हो जायेगा. अगर साल 2018 के सर्वाधिक महत्वपूर्ण शतकों की बात करें जो भारत की जीत में महत्वपूर्ण रहे तो भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) द्वारा इंग्लैंड के खिलाफ नॉटिंघम में लगाया गया शतक क्रिकेट प्रशंसको के जेहन में हमेशा जिंदा रहेगा. कप्तान विराट कोहली ने इस मैच के पहली पारी में 97 और दूसरी में 103 रन बनाए थे. कप्तान कोहली के इस पारी के बदौलत भारत ने इस मैच को 203 रनों से जीत लिया था.

वहीं अगर दूसरे नंबर पर बात करें तो भारत के युवा सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ द्वारा राजकोट मैदान पर वेस्टइंडीज के खिलाफ लगाई गई सेंचुरी क्रिकेट प्रशंसको के जेहन में हमेशा जिंदा रहेगी. जी हां इस मैच में युवा बल्लेबाज शॉ ने 134 रन की धमाकेदार पारी खेलते हुए अपना टेस्ट डेब्यू शतक जड़ा था. बता दें कि भारतीय टीम ने इस मैच में वेस्ट इंडीज को पारी और 272 रन से हराया था.

यह भी पढ़ें- ऑस्ट्रेलिया को हराने के बाद सिडनी रवाना हुए विराट कोहली, पत्नी अनुष्का संग मनाएंगे नए साल का जश्न

वहीं तीसरे सबसे उम्दा पारी की बात करें तो चेतेश्वर पुजारा द्वारा एडिलेड (Adelaide) में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले टेस्ट मैच के पहली पारी में 123 रन की शतकीय पारी महत्वपूर्ण रही. पुजारा के इस शतक के बदौलत भारत ने ऑस्ट्रेलिया को पहले टेस्ट मैच में हराने में कामयाब रहा. ज्ञात हो कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में भारत ने 41 रन पर चार विकेट गवांकर संघर्ष कर रही थी. उस समय पुजारा ने शानदार शतक लगाकर भारत की नैया पार लगाई थी.

Dabboo Ratnani 2019 New Year Calendar: इस बार कुछ ऐसा होगा श्रद्धा कपूर का लुक, देखें Video

साल 2019 की शुरुआत होने जा रही है. हर साल की तरह इस साल भी फैन्स को डब्बू रत्नानी (Dabboo Ratnani) के कैलेंडर का इंतजार रहेगा. बॉलीवुड के सितारें भी डब्बू के कैलेंडर के लिए काफी तैयारियां कर रहे हैं. इसी बीच अभिनेत्री श्रद्धा कपूर ( Shraddha Kapoor) ने सोशल मीडिया पर इस फोटोशूट का एक BTS (बिहाइंड द सीन्स) वीडियो शेयर किया है. इस वीडियो में उनके साथ डब्बू रत्नानी को भी देखा जा सकता है. साथ ही वीडियो में श्रद्धा बिलकुल अलग अवतार में नजर आ रही हैं.

इस वीडियो को इन्स्टाग्राम पर शेयर करते हुए श्रद्धा कपूर ने डब्बू रत्नानी और उनकी पत्नी मनीषा रत्नानी को भी टैग किया है. वीडियो में श्रद्धा डब्बू से बात करती हुई नजर आ रही हैं.

 

View this post on Instagram

 

@dabbooratnani @manishadratnani #btswithdabboo #dabbooratnanicalendar

A post shared by Shraddha (@shraddhakapoor) on

यह भी पढ़ें:-  साइना नेहवाल की बायोप‍िक में ये होगा श्रद्धा कपूर का लुक, बैडमिंटन खेलने के लिए हैं बिल्कुल तैयार

आपको बता दें कि साल 2018 में श्रद्धा कपूर को ‘स्त्री’ और ‘बत्ती गुल मीटर चालू’ जैसी फिल्मों में देखा गया. ‘स्त्री’ में उनके अलावा राजकुमार राव और पंकज त्रिपाठी ने भी अहम भूमिकाएं निभाई थी. ‘स्त्री’ ने बॉक्स ऑफिस पर 100 करोड़ रुपये से भी ज्यादा कमाई की थी ‘बत्ती गुल मीटर चालू’ की बात करें तो इस फिल्म में उनके अपोजिट शाहिद कपूर थे. यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाई थी.

आमिर खान इस गणतंत्र दिवस करेंगे अपने प्रशंसकों का मनोरंजन

आमिर खान (Aamir Khan) प्रोडक्शंस की अगली फिल्म ‘रुबरू रोशनी’ इस गणतंत्र दिवस (Republic Day) दर्शकों का मनोरंजन करने के लिए तैयार है. यह फ़िल्म स्टार प्लस पर सुबह 11 बजे प्रीमियर की जाएगी. फिल्म की घोषणा करते हुए, आमिर खान ने अपने सोशल मीडिया पर एक वीडियो साझा करते हुए लोगों से गणतंत्र दिवस पर उनके प्लान के बारे में पूछा है.

आमिर खान ने आगे स्पष्ट करते हुए कहा है कि उनकी अगली फिल्म ‘सत्यमेव जयते’ (Satyameva Jayate) के नए एपिसोड के बारे में नहीं है. अभिनेता ने यह कहते हुए वीडियो को समाप्त कर दिया कि “दिल पर लगेगी तभी बात बनेगी” और दर्शकों को फिल्म देखने के लिए आमंत्रित किया है.

यह भी पढ़ें: आमिर खान स्टारर ‘दंगल’ की दूसरी वर्षगांठ पर ट्विटर पर ट्रेंड कर रहा है #HarDinDangal

वीडियो को सोशल मीडिया पर शेयर करते हुए आमिर खान ने कहा,” ‘रुबरू रोशनी’ (रोशनी के साथ आमने-सामने) आमिर की बहुचर्चित फिल्म ‘रंग दे बसंती’ से गीत ‘रूबरू’ के लिरिक्स हैं, जिसे प्रसून जोशी द्वारा लिखा गया है और ए आर रहमान द्वारा रचित है. इस गीत के गायक नरेश अय्यर (Naresh Iyer) राष्ट्रीय पुरस्कार भी जीत चुके है. संयोग से, फिल्म तेरहा साल पहले 26 जनवरी को ही रिलीज हुई थी.

मुंबई: पीछा करने वाले पड़ोसी युवक का महिला ने काटा प्राइवेट पार्ट, हुई मौत

मुंबई (Mumbai)  से सटे ठाणे (Thane)  में एक महिला ने दो अन्य लोगों के साथ मिलकर एक युवक का प्राइवेट पार्ट (Private Part) काट दिया. घटना के बाद पीड़ित युवक को अस्पताल (Hospital) में भर्ती करवाया गया. लेकिन उसके शरीर से ज्यादा खून निकलने के चलते इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया. खबरों के अनुसार मृतक युवक महिला का पड़ोसी है. वह पिछले कुछ दिनों से उसका का पीछा कर रहा था. उसने इस युवक को सबक सीखने के लिए एक दिन अपने घर बुलकर दो अन्य लोगों की मदद से उसका प्राईवेट पार्ट काट दिया.

दरअसल 27 वर्षीय मृतक युवक जो किसी बैंक में लोन सलाहकार के तौर पर काम करता है और वह पड़ोस में रहने वाली 42 साल की महिला को पसंद करता था. जिसको लेकर वह महिला का आये दिन बाहर आने जाने पर उसका पीछा करता था. महिला ने उसे कई बार समझाने की कोशिश किया कि वह ऐसा न करे. लेकिन वह अपनी आदत से बाज नहीं आ रहा था. हद तब हो गई जब उसने इस बात को महिला के पति को बताया कि वह उसकी पत्नी को पसंद करता है. इस बात को सुनकर महिला का पति और पत्नी के बीच मनमुटाव शुरू हो गया. जिसके बाद महिला ने युवक को सबक सीखने के लिए एक दिन किसी को लोन दिलाने के बहाने अपने घर बुलाया. जिसके बाद उसका हाथ और पैर बांध कर युवक का प्राईवेट पार्ट काट दिया. यह भी पढ़े: महाराष्ट्र: महिला द्वारा अवैध यौन संबध की मांग से परेशान होकर व्यक्ति ने की आत्महत्या

घटना के बाद पुलिस ने महिला समेत दो अन्य लोगों को गिरफ्तार किया है. पुलिस के पूछताछ में महिला ने अपना जुर्म कबूलते हुए पुलिस को बताया कि उसकी हरकत को लेकर वह कुछ दिन से परेशान थी. इस बीच इस बात को लेकर उसका उसके पति के साथ मनमुटाव भी शुरू हो गया. हालांकि उसे ऐसा नहीं करने को लेकर कई कार समझाया. लेकिन उसकी बात नहीं मानने पर युवक को सबक सीखने के लिए उसने ऐसा कदम उठाया.

बिहार: मुजफ्फरपुर के फैक्ट्री में लगी भीषण आग, 3 लोगों की मौत

बिहार के मुजफ्फरपुर (Muzaffarpur) जिले में सोमवार को एक फैक्ट्री में आग लगने से तीन लोगों की मौत हो गई है. रिपोर्ट के मुताबिक, यह घटना मुजफ्फरपुर के चकनूरन इलाके में स्थित एक स्नैक्स फैक्ट्री (Snacks Factory) में हुई है. मुजफ्फरपुर के डीएम ने बताया कि इस हादसे में अभी तक तीन लोगों की मौत हुई है. वहीं, सात लोग अभी भी लापता हैं. फायर ब्रिगेड की टीम घटनास्थल पर पहुंच चुकी है. राहत और बचाव का काम अभी जारी है. हादसे में घायल लोगों को एसकेएमसीएच अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

हालांकि आग लगने का कारण फिलहाल पता नहीं लग सका है. पुलिस का कहना है कि लापता लोगों की तलाश की जा रही है. आग से लाखों रुपये के नुकसान की आशंका है. घटना की जांच के लिए फॉरेंसिक टीम को मौके पर बुलाया गया है.

आपकी पत्नी के प्राइवेट पार्ट के लिए अनहेल्दी हैं खाने-पीने की ये चीजें, इनका सेवन करने से उन्हें बचाएं

हमारे डेली डायट (Daily Diet) में खाने-पीने की कई ऐसी चीजें शामिल हैं जिनका सेवन हम बड़े ही चाव से करते हैं, लेकिन इनमें कुछ ऐसी चीजें भी हैं जो शरीर के साथ-साथ प्राइवेट पार्ट्स (Private Parts) के सेहत को भी नुकसान पहुंचाती हैं. खासकर महिलाओं के प्राइवेट पार्ट की सेहत (Health) पर इनका नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है. आज के इस आधुनिक दौर में कई महिलाएं वेजाइनल इंफेक्शन (Vaginal Infection) से लेकर वेजाइनल डिस्चार्ज (Vaginal Discharge) जैसी कई समस्याओं से परेशान नजर आती हैं और कई बार इन समस्याओं के लिए उनका खान-पान काफी हद तक जिम्मेदार होता है.

चलिए जानते हैं आखिर खाने-पीने की वो कौन सी चीजें हैं, जिन्हें महिलाओं के प्राइवेट पार्ट की सेहत के लिए अनहेल्दी माना जाता है, ताकि आप उन चीजों का सेवन करने से परहेज करें और इनसे होने वाली समस्याओं से खुद को बचा सकें.

1- मीठा

खाने के बाद कई लोगों को मीठा खाने की आदत होती है, लेकिन अगर आप महिला हैं तो आपको मीठी चीजों का सेवन कम कर देना चाहिए. दरअसल, शरीर में शुगर लेवल बढ़ने की वजह से महिलाओं के प्राइवेट पार्ट में यीस्ट इंफेक्शन होने का खतरा बढ़ जाता है, क्योंकि शुगर यीस्ट इंफेक्शन का कारण बनने वाले बैक्टीरिया को पनपने के लिए उचित माहौल बनाता है. यह भी पढ़ें: New Year 2019 Resolution: नए साल पर मोटापे को मात देने का लिया है रेजोल्यूशन, तो इन आसान तरीकों से कंट्रोल करें अपना वजन

2- प्याज

खाने में अगर आप कच्चा प्याज ज्यादा खाती हैं तो यह आपके प्राइवेट पार्ट की सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है. दरअसल, अधिक मात्रा में प्याज खाने पर जिस तरह से सांसों से दुर्गंध आने लगती है, ठीक उसी तरह से यह प्राइवेट पार्ट में दुर्गंध की समस्या को बढ़ा सकता है. इस समस्या से बचने के लिए जितना हो सके, कच्चे प्याज का सेवन कम से कम करें.

3- ब्रोकली

इसमें कोई दो राय नहीं है कि ब्रोकली सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है, लेकिन हकीकत तो यह भी है कि ब्रोकली को महिलाओं के प्राइवेट पार्ट के लिए अनहेल्दी माना जाता है. इसके सेवन से आपके प्राइवेट पार्ट से आने वाली गंध में बदलाव आ सकता है. ऐसे में इसका सेवन संतुलित मात्रा में ही करें और खासकर पार्टनर के साथ इंटिमेट होने से पहले इसका सेवन बिल्कुल भी न करें.

4- फ्राइड चीजें

अगर आप चिप्स, फ्राइड राइस, फ्राइड नूडल्स जैसी फ्राइड चीजों को खाना बेहद पसंद करती हैं तो सावधान हो जाइए. बता दें कि इन फ्राइड चीजों में मौजूद वसा महिलाओं में बैक्टीरियल वेजाइनोसिस की समस्या का कारण बन सकता है. हालांकि सीमित मात्रा में इनका सेवन करने में कोई हर्ज नहीं है, लेकिन अधिक मात्रा में इसका सेवन करने से बचें. यह भी पढ़ें: Lucky Foods For 2019: नए साल में खाएंगे ये चीजें तो चमक जाएगी आपकी किस्मत, कामयाबी चूमेगी कदम

5- शराब

अत्यधिक मात्रा में शराब का सेवन करना आपके प्राइवेट पार्ट की सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है. अगर आप नियमित तौर पर शराब पीती हैं तो सावधान हो जाइए, क्योंकि इससे न सिर्फ आपको डिहाइड्रेशन हो सकता है, बल्कि यह आपको वेजाइनल ड्राइनेस का भी शिकार बना सकता है.

ऐसे में अगर आप अपने प्राइवेट पार्ट को हेल्दी बनाएं रखना चाहती हैं तो अपने खान-पान की आदतों को सुधार लें और उन चीजों से परहेज करें जो आपके प्राइवेट पार्ट के लिए अनहेल्दी है.

केंद्र सरकार ने लिया बड़ा फैसला, नागालैंड और छह महीने के लिए ‘अशांत’ क्षेत्र घोषित

नई दिल्ली: पूरे नगालैंड (Nagaland) राज्य को विवादास्पद अफ्सपा के तहत और छह महीने यानि जून अंत तक के लिए ‘‘अशांत क्षेत्र’’ घोषित कर दिया गया है.अफ्सपा सुरक्षा बलों को किसी भी जगह अभियान संचालित करने और बिना किसी पूर्व सूचना के किसी को भी गिरफ्तार करने का अधिकार देता है. गृह मंत्रालय की एक अधिसूचना में कहा गया है कि केंद्र सरकार का विचार है कि पूरा नगालैंड राज्य क्षेत्र ऐसी अशांत एवं खतरनाक स्थिति में है कि प्रशासन की सहायता के लिए सशस्त्र बलों का इस्तेमाल जरूरी है.

अधिसूचना में कहा गया है, ‘‘ऐसे में सशस्त्र बल (विशेषाधिकार) कानून, 1958 (1958 के नम्बर 28) की धारा तीन के तहत मिली शक्तियों का इस्तेमाल करते हुए केंद्र सरकार इसके द्वारा घोषणा करती है कि पूरा उपरोक्त राज्य उस कानून के उद्देश्य से 30 दिसम्बर 2018 से छह महीने की अवधि के लिए एक ‘अशांत क्षेत्र’ रहेगा.’’ गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि नगालैंड को ‘‘अशांत क्षेत्र’’ घोषित रखने का निर्णय इसलिए लिया गया है क्योंकि राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में हत्या, लूट और उगाही जारी है. इसके चलते वहां तैनात सुरक्षा बलों की सुविधा के लिए यह कदम जरूरी हो गया.

यह भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव 2019: किसानों की नाराजगी दूर करने के लिए बड़े पैकेज की घोषणा कर सकती है मोदी सरकार

पूर्वोत्तर के साथ ही जम्मू कश्मीर के भी विभिन्न संगठनों की ओर से विवादास्पद सशस्त्र बल (विशेषाधिकार) कानून रद्द करने की मांग की जाती रही है. संगठनों का कहना है कि यह सुरक्षा बलों को ‘‘व्यापक अधिकार’’ देता है. अफ्सपा नगालैंड में दशकों से लागू है. इसे नगा उग्रवादी समूह एनएससीएन..आईएम महासचिव टी मुइवा और सरकार के वार्ताकार आर एन रवि के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की मौजूदगी में तीन अगस्त 2015 को एक रूपरेखा समझौते पर हस्ताक्षर होने के बाद भी नहीं हटाया गया.

Happy New Year 2019: न्यूजीलैंड के ऑकलैंड में शुरू हुआ नए साल का जश्न, रंगीन आतिशबाजी से जगमगा उठा पूरा आसमान, देखें Video

नए साल (New Year 2019) को लेकर दुनियाभर में तैयारी जोरों पर है. क्या बच्चे, क्या  बूढ़े ,क्या महिलायें क्या पुरुष सभी पुरे  जोश खरोश और उत्साह के साथ नए साल के स्वागत में जुट रहे है. इस दौरान जमीन तो जमीन आसमान भी रंगीन आतिशबाजियो से झिलमिला उठेगा. लेकिन क्या आप जानते है कि सबसे पहले नया साल किस देश में दस्तक देने वाला है.

New Year 2019 दुनियाभर में सबसे पहले न्यूजीलैंड (New Zealand) के ऑकलैंड (Auckland) में मनाया गया. इस खूबसूरत शहर के स्काई टावर का नजारा बेहद शानदार होता है. जबरदस्त आतिशबाजी के साथ यहां नए साल का जश्न शुरू हो गया. इस मौके पर यहां बड़ी तादात में विदेशी सैलानी भी पहुचे है. रंग बिरंगी रोशनी और ‘हैप्पी न्यू ईयर’ की गूंज पूरे ऑकलैंड में सुनाई दें रही है.

यह भी पढ़े- Happy New Year 2019 in Advance: न्यू ईयर विश करने के लिए न करें नए साल का इंतजार, इन शानदार WhatsApp Stickers, SMS और Facebook मैसेजेस के जरिए सबसे पहले दें शुभकामनाएं

भारतीय समय के मुताबिक, शाम 4.30 बजे ऑकलैंड में रात 12 बजते ही न्यू ईयर का जश्न शुरू हो गया. इस मौके पर पारंपरिक अंदाज में शानदार आतिशबाजी की गई. देखिए न्यूजीलैंड के ऑकलैंड में नए साल के स्वागत का लाइव वीडियो-

गौतरलब हो कि विश्व में सबसे पहले मध्य उष्णकटिबंधीय प्रशांत महासागर में स्थित द्वीप- किरिबाती गणराज्य साल 2019 में प्रवेश करेगा. जिसके बाद न्यूजीलैंड के चाथम द्वीपसमूह में न्यू इयर की दस्तक होगी. वहीं आपको बता दें कि नए साल में दाखिल होने के मामले में भारत का नंबर पन्द्रहवां है.