हैदराबाद वेटनरी महिला डॉक्टर बलात्कार और हत्या मामला: बीजेपी महिला मोर्चा की सदस्यों ने सिलीगुड़ी में निकाला कैंडल मार्च

नई दिल्ली: तेलंगाना (Telangana) में महिला पशु चिकित्सक से हुए बलात्कार और हत्या के बाद देशभर में गम का माहौल फैला हुआ है. दिल को दहला देने वाली इस घटना के बाद लोग अपना खुलकर विरोध जाहिर कर रहे हैं और आरोपी व्यक्तियों को कड़ी से कड़ी सजा देनें की मांग कर रहे हैं. इस कड़ी में पश्चिम बंगाल (West Bengal) के सिलीगुड़ी (Siliguri) में बीजेपी महिला मोर्चा की सदस्यों (BJP Mahila Morcha members) और अन्य लोगों ने कैंडल मार्च निकालते हुए अपना विरोध प्रकट किया है.

बता दें कि पश्चिम बंगाल से पहले राजधानी दिल्ली में भी आज युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं (Youth Congress workers) ने जंतर-मंतर (Jantar Mantar) पर विरोध मार्च निकाला था.

महिला पशु चिकित्सक से हुए बलात्कार और हत्या मामले में पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार किए गए आरोपी व्यक्तियों को शादनगर पुलिस स्टेशन (Shadnagar police station) में रखा गया था, लेकिन स्थानीय लोगों द्वारा धरना प्रदर्शन के बाद पुलिस ने मौके की नजाकत को देखते हुए आरोपी व्यक्तियों को चंचलगुडा सेंट्रल जेल (Chanchalguda Central Jail) में शिफ्ट कर दिया है.

यह भी पढ़ें- हैदराबाद वेटनरी महिला डॉक्टर बलात्कार और हत्या मामला: युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने जंतर-मंतर पर निकाला विरोध मार्च

गौरतलब हो कि 25 वर्षीय महिला पशु चिकित्सक की शमशाबाद स्थित आउटर रिंग रोड के टोल प्लाजा पर दो ट्रक चालकों और दो क्लीनरों द्वारा सामूहिक दुष्कर्म किए जाने के बाद हत्या करने की दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है. आरोपियों ने बाद में शव को शादनगर शहर के बाहरी इलाके में जला दिया था. अगले दिन स्थानीय लोगों ने पीड़िता की अधजली लाश देख पुलिस को सूचना दी थी.

साइबराबाद पुलिस ने शुक्रवार रात चार आरोपियों की गिरफ्तारी की घोषणा की थी, जिन्होंने टोल प्लाजा के पास पार्क की हुई पीड़िता की स्कूटी को पंक्चर कर साजिश के तहत घटना को अंजाम दिया था. आरोपियों की पहचान ट्रक चालक मोहम्मद आरिफ, ट्रक चालक चिंताकुंता चेन्नाकेशावुलू, क्लीनर जोलु शिवा और जोलु नवीन के तौर पर हुई है. आरिफ की उम्र 26 साल है, जबकि बाकी तीनों आरोपियों की उम्र 20 साल है.

कर्नाटक: पूर्व सीएम एचडी कुमारस्वामी का बड़ा आरोप, कहा- बीजेपी खरीदे गए विधायकों के साथ जानवरों जैसा करती है व्यवहार

बेंगलुरु: कर्नाटक में पांच दिसंबर को 15 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होने हैं. चुनाव से पहले पूर्व मुख्यमंत्री और जेडीएस नेता एचडी कुमारस्वामी (HD Kumaraswamy) ने भारतीय जनता पार्टी (BJP) पर सनसनी खेज आरोप लगाते हुए हमला बोला है. कुमारस्वामी ने बीजेपी पर विधायकों की खरीद- फरोख्त का आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी ने पहले ही कई विधायक खरीद लिए हैं और अब उनके साथ जानवरों जैसा व्यवहार कर रही है. बता दें कि कर्नाटक में कांग्रेस और जेडीएस के 17 विधायकों के अयोग्य घोषित होने के बाद 15 सीटों पर उपचुनाव होने जा रहा है. जिनके परिणाम 9 दिसंबर को आएंगे.

दरअसल शनिवार को बेलागावी जिले के अठानी में एचडी कुमारस्वामी अपने कुछ कार्यकर्ताओं के साथ वहां पर गए हुए थे. जहां पर मीडिया से बातचीत के दौरान उन्होंने बीजेपी के बारे में कहा कि बीजेपी पहले ही कई विधायकों को खरीद चुकी है. जिनके साथ वह जानवरों जैसा व्यवहार कर रही हैं. यदि उपचुनाव में कुछ भी गलत होता है तो उन्होंने अपने सुरक्षा के लिए नए जानवरों की तलाश में लग गये हैं. देखते हैं कि 9 दिसंबर के बाद क्या होता है.

यह भी पढ़े- कर्नाटक उपचुनाव 2019: सिद्धारमैया का दावा 15 में से कम से कम 12 सीटें जीतेगी कांग्रेस, सीएम येदियुरप्पा को देना होगा इस्तीफा

बीजेपी का दावा हम सभी 15 सीटों पर करेंगे जीत दर्ज:

पूर्व सीएम एचडी कुमारस्वामी बीजेपी पर भले ही आरोप पर आरोप लगा रहे हैं कि 9 दिसंबर के बाद हम बीजेपी को देखेंगे कि बीजेपी का क्या हाल होता है. वहीं बीजेपी की तरफ से दो दिन पहले दावा किया गया है कि विपक्ष चाहे जितना भी कोशिश कर लें. लेकिन राज्य की सभी 15 सीटों पर उनके पार्टी की ही जीत हासिल होने वाली है.

गौरतलब हो कि कुछ महीने पहले जब कर्नाटक में कुमारस्वामी की सरकार थी. उस समय कुमारस्वामी से नाराज होकर कांग्रेस से 14 विधायक और जेडीएस से 3 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया था. जिसके बाद उनकी सरकार अल्पतम में आने के बाद गिर गई. इसके बाद तत्कालीन विधानसभा स्पीकर रमेश कुमार ने सभी 17 विधायकों को अयोग्य करार दिया था. इसके बाद येदियुरप्पा ने राज्य में एक बार सरकार बनाई.

नई दिल्ली: महिला ने मुंह पर थूका तो दुष्कर्मी ने जान से मार डाला, सीसीटीवी से खुला भेद

नई दिल्ली: पुलिस ने शुक्रवार की रात उत्तरी दिल्ली के गुलाबी बाग थाना इलाके की किशनगंज कालोनी में एक महिला की हत्या के आरोपी को गिरफ्तार किया. गिरफ्तार हत्यारोपी धर्मराज (22) वारदात को अंजाम देने के बाद महिला के घर से निकलता हुआ सीसीटीवी में कैद हो चुका है. घर में घुसकर महिला के कत्ल की वारदात की खबर पुलिस को शनिवार सुबह करीब नौ बजे मिली. मौके-हालात बयां कर रहे थे कि हत्यारा घर में बिना रोक-टोक घुसा था. उसके बाद शनिवार की सुबह महिला का अर्धनग्न शव उसी के फ्लैट में मिला था. सीसीटीवी फुटेज में संदिग्ध रात करीब 12 बजे महिला के घर से निकलता हुआ कैद हुआ था.

पड़ोसियों को पुलिस ने जब सीसीटीवी फुटेज दिखाई तो उन्होंने महिला के घर से देर रात निकलने वाले संदिग्ध की पहचान पड़ोस में ही रहने वाले धर्मराज के रूप में की. धर्मराज को गिरफ्तार कर लिया गया. आरोपी को यह अंदेशा भी नहीं रहा होगा कि पुलिस उस तक इतनी जल्दी पहुंच जाएगी. शायद यही कारण था कि आरोपी अपने ठिकाने पर बेफिक्री से सोता हुआ मिल गया. यह भी पढ़ें- दिल्ली: ग्रेटर नोएडा में गृह क्लेश के कारण पिता ने की 2 बेटियों की हत्या, पुलिस ने मामला दर्ज कर हत्यारोपी को किया गिरफ्तार

आरोपी ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि शुक्रवार की रात वह पूजा का सामान लेने के बहाने से महिला के घर में घुस गया. उसने महिला के साथ दुष्कर्म किया. पीड़िता ने गुस्से में धर्मराज के मुंह पर थूक दिया. इससे चिढ़कर धर्मराज ने गुस्से में गला दबाकर महिला की हत्या कर दी. उत्तरी जिला पुलिस के एक अधिकारी के मुताबिक, “दुष्कर्म और हत्या की वारदात को अंजाम देते वक्त आरोपी शराब के नशे में धुत था.”

पुलिस की इस बात पर मगर विश्वास करना फिलहाल जल्दबाजी होगी. वजहें दो हैं- पहली, पुलिस की तफ्तीश अभी बाकी है. अंत में पता नहीं ऊंट किस करवट बैठे! दूसरी, पुलिस के इस बयान का कि आरोपी ने ‘वारदात को शराब के नशे में अंजाम दिया’, हत्यारोपी अदालत में ट्रायल के दौरान कहीं नाजायज फायदा न उठा ले!

हैदराबाद वेटनरी महिला डॉक्टर बलात्कार और हत्या मामला: युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने जंतर-मंतर पर निकाला विरोध मार्च

नई दिल्ली: तेलंगाना (Telangana) में महिला पशु चिकित्सक से हुए बलात्कार और हत्या के बाद देश में चारो तरफ इस रूह को कपकपा देने वाली घटना को लेकर रोष व्याप्त है. इसी कड़ी में राजधानी दिल्ली में आज युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं (Youth Congress workers) ने जंतर-मंतर (Jantar Mantar) पर विरोध मार्च निकाला. बता दें कि महिला पशु चिकित्सक से हुए बलात्कार और हत्या मामले में पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार किए गए आरोपी व्यक्तियों को शादनगर पुलिस स्टेशन (Shadnagar police station) में रखा गया था, लेकिन स्थानीय लोगों द्वारा धरना प्रदर्शन के बाद पुलिस ने मौके की नजाकत को देखते हुए आरोपी व्यक्तियों को चंचलगुडा सेंट्रल जेल (Chanchalguda Central Jail) में शिफ्ट कर दिया है.

गौरतलब हो कि 25 वर्षीय महिला पशु चिकित्सक की शमशाबाद स्थित आउटर रिंग रोड के टोल प्लाजा पर दो ट्रक चालकों और दो क्लीनरों द्वारा सामूहिक दुष्कर्म किए जाने के बाद हत्या करने की दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है. आरोपियों ने बाद में शव को शादनगर शहर के बाहरी इलाके में जला दिया था. अगले दिन स्थानीय लोगों ने पीड़िता की अधजली लाश देख पुलिस को सूचना दी थी.

यह भी पढ़ें- हैदराबाद वेटनरी महिला डॉक्टर बलात्कार और हत्या मामला: पुलिस पर लोगों ने फेंके चप्पल, लाठीचार्ज के बाद मामला हुआ शांत, देखें वीडियो

साइबराबाद पुलिस ने शुक्रवार रात चार आरोपियों की गिरफ्तारी की घोषणा की थी, जिन्होंने टोल प्लाजा के पास पार्क की हुई पीड़िता की स्कूटी को पंक्चर कर साजिश के तहत घटना को अंजाम दिया था. आरोपियों की पहचान ट्रक चालक मोहम्मद आरिफ, ट्रक चालक चिंताकुंता चेन्नाकेशावुलू, क्लीनर जोलु शिवा और जोलु नवीन के तौर पर हुई है. आरिफ की उम्र 26 साल है, जबकि बाकी तीनों आरोपियों की उम्र 20 साल है.

लुधियाना: होजरी फैक्ट्री में लगी भीषड़ आग, दमकल विभाग की कड़ी मशक्कत के बाद मिली कामयाबी

पंजाब (Punjab) में लुधियाना (Ludhiana) शहर के वेट गंज इलाके (Wait Ganj area) में शनिवार यानि आज तड़के सुबह आग लग जाने से चारो तरफ अफरा-तफरी का माहौल मच गया. ANI न्यूज एजेंसी की खबर के अनुसार आग तीन मंजिला होजरी फैक्ट्री (hosiery factory) में लगी थी. सुचना के पश्चात् लुधियाना नगर निगम के 10 दमकल की गाड़ियों ने मौके पर पहुंचकर कड़ी मशक्कत के बाद आग को बुझाने में कामयाबी पाई. पुलिस ने बताया कि इस तीन मंजिला इमारत में आग लगने का कारण अभी तक पता नहीं चल पाया है.

बता दें कि इससे कुछ दिन पहले एक प्लास्टिक के गोदाम में भयंकर आग लग गई थी. आग इतनी जबरदस्त थी की पूरा क्षेत्र धुंए के आगोश में ढक गया था. रिहायशी क्षेत्र में बनाए गए इस प्लास्टिक के गोदाम में काफी माल रखे होने की बात कही जा रही है.आग लगते ही आसपास के घरों व दुकानों से लोग बाहर आ गए. आग लगने की सूचना मिलते ही फायर ब्रिगेड की गाड़ियां मौके पर पहुंची और कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया.

यह भी पढ़ें- दिल्ली: पंजाबी बाग के गोदाम में लगी भीषण आग, दमकल की 22 गाड़ियां मौके पर पहुंची

वहीं इस घटना से पूर्व लुधियाना में लोधी क्लब रोड पर बारात में जा रही साढ़े तीन करोड़ की बैंटले कार में अचानक आग लग गई थी. कार में सवार दूल्हे और उसके तीन साथी तुरंत बाहर आ गए. इस दौरान कार में छोटा सा धमाका भी हुआ. घटना के बाद मौके पर लोगों की भीड़ जुट गई. दुकानों व घरों से पानी लाकर आग पर काबू पाया गया.

शराब पीकर गाड़ी चलाने वालों के खिलाफ ओडिशा पुलिस की बड़ी कार्रवाई, 140 लोग गिरफ्तार

भुवनेश्वर: ओडिशा पुलिस ने 24 घंटों में शराब पीकर गाड़ी चलाने के मामले में 140 लोगों को गिरफ्तार किया है.  एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने शनिवार को यह जानकारी दी. अंतरिम पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) सत्यजित मोहंती ने कहा कि शुक्रवार को शराब पीकर गाड़ी चलाने वाले लोगों पर राज्यभर में कार्रवाई की गई. ड्रंकन ड्राइविंग (शराब पीकर गाड़ी चलाने) के मामले गंजाम जिले में 27, मलकानगिरि में 25, मयूरभंज में 24 और जाजपुर में 17 सामने आए। वहीं, खुरदा और कटक जिलों में एक-एक मामला सामने आया.

मोहंती ने कहा कि सभी अपराधियों पर मोटर व्हिकल एक्ट, 2019 के अनुसार 10 हजार रुपये का जुर्माना लगाया गया. भुवनेश्वर-कटक पुलिस आयुक्त सुधांशु सारंगी ने कहा कि कोई भी व्यक्ति यदि यातायात नियमों का उल्लंघन करता पाया जाता है, तो उस पर एमवी अधिनियम (मोटर व्हिकल एक्ट), 2019 के अनुसार भारी जुर्माना लगाया जाएगा.

सीएम योगी आदित्यनाथ ने दिल्ली में पीएम मोदी से की मुलाकात: 30 नवंबर 2019 की बड़ी खबरें और मुख्य समाचार LIVE

झारखंड विधानसभा के प्रथम चरण के चुनाव के लिए मतदान शुरू हो गया है. यहां दोपहर 3 बजे तक मतदान होगा. चुनाव आयोग ने प्रथम चरण में नक्सल प्रभावित इलाकों के होने के कारण मतदान का समय 3 बजे तक रखने का फैसला लिया है. यहां नक्सल प्रभावित 6 जिलों की 13 विधानसभा सीटों पर 37,83,055 मतदाता 189 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे. सबसे अधिक 28 उम्मीदवार भवनाथपुर सीट से चुनाव लड़ रहे हैं.

वहीं आज उद्धव ठाकरे सरकार का पहला इम्तिहान होगा. आपको बता दें कि आज यानी शनिवार को महाराष्ट्र की विधानसभा में दोपहर दो बजे शक्ति परीक्षण होना है. शिवसेना का दावा है कि उसके पास 170 विधायकों का समर्थन है और सदन में वो आसानी से बहुमत साबित कर देगी. गौरतलब है कि महाराष्ट्र में नई सरकार के पास 3 दिसंबर तक अपना बहुमत सिद्ध करने का समय है.

आज के सभी मुख्य समाचार और ब्रेकिंग न्यूज पढ़ने के लिए हमारे साथ जुड़े रहें.

बता दें कि हैदराबाद में महिला डॉक्टर से दरिंदगी का मामला अभी थमा भी नहीं था कि ऐसा ही एक और केस सामने आ गया. शमशाबाद में एक और महिला का जला हुआ शव मिला है. यह वही इलाका है जहां कुछ घंटे पहले ही एक महिला डॉक्टर का रेप के बाद जला हुआ शव मिला था. एक और जली हुई लाश मिलने के बारे में साइबराबाद के पुलिस कमिश्नर वीसी सज्जनर ने कहा कि शमशाबाद के बाहरी इलाके में शव मिला है. शव को सरकारी अस्पताल में भेजा जा रहा है और मामला दर्ज किया जा रहा है.

प्याज की बढ़ती कीमतों पर लालू यादव का तंज, कहा- मोदी, पासवान और नीतीश राज में पिअजवा अनार हो गईल

पटना: देश में प्याज की बढ़ती कीमत से हाहाकार मचा हुआ है. मध्यम वर्गीय लोगों के लिए प्याज खरीदना मुश्किल हो गया है. इस पर सियासत जरूर हो रही है. लेकिन प्याज की कीमत को कैसे कम किया जाय सरकार इसका कोई हल ढूढ़ पाने में नाकामयाब है. इस बीच आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव (RJD Chief Lalu Prasad Yadav) जो अपने चुटकुले अंदाजों के लिए जाने जाते हैं. उन्होंने प्याज को लेकर केंद्र सरकर के साथ ही बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार  (Nitish Kumar) पर तंज सकते हुए हमला बोला है.

पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव ने इसको लेकर उनकी तरफ से एक ट्वीट किया है. जिसमें भोजपुरी अंदाज में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंदीय मंत्री रामविलास पासवान, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर तंज सकते हुए लिखा गया है कि “मोदी-पासवान-नीतीश राज में फिर.. पिअजवा अनार हो गईल बा यह भी पढ़े: Onion Prices: देश में प्याज ने निकाले आंसू, 100 रु/किलो तक पहुंचा दाम

बता दें कि भारत के प्रमुख हिस्सों में प्याज 100 रुपये प्रति किलों बिक रहा है. यदि हम महाराष्ट्र के मुंबई की बात करें तो यहां पर प्याज 90 से 100 रुपये प्रति किलो के दर से बिक रहा है. वहीं बिहार की राजधानी पटना की बात करें तो यहां भी प्याज के दाम का कुछ यही हाल हैं. यहां पर भी 90 से 100 रुपये प्रति किलों के दाम में प्याज बिक रहा है. प्याज को लेकर जब लोग सरकार से सवाल कर रहे हैं तो इसके बारे में जवाब दिया जा रहा है कि बेमौसम बारिश की वजह से राज्यों में प्याज की कीमतों में वृद्धी हुई है. जो जल्द से जल्द अपने न्यूनतम रेट पर आ जायेगी.

महाराष्ट्र: गढ़चिरौली में पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान दो नक्सलियों को किया ढेर

महाराष्ट्र (Maharashtra) के गढ़चिरौली (Gadchiroli) जिले में शनिवार यानि आज पुलिस और नक्सलियों के बीच हुए मुठभेड़ में पुलिस ने दो नक्सलियों को मार गिराया है. पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ अबुजमद इलाके में हुई. पुलिस का इस मामले में कहना है कि नक्सली पीपल्स लिबरेशन गुरिल्ला आर्मी सप्ताह की तैयारियों में जुटे थे. माओवादी दो से आठ दिसंबर तक इस सप्ताह को मनाने वाले थे. इसी दौरान एंटी नक्सल ऑपरेशन कमांडो की टीम सर्च ऑपरेशन चलाते हुए नक्सली कैंप में घुसकर कैंप को तबाह कर दिया. पुलिस ने मुठभेड़ में मारे गए दोनों नक्सलियों के शवों को बरामद कर लिया गया है.

बता दें कि हाल ही के दिनों में गढ़चिरौली (Gadchiroli) में छह नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया था, जिसमें पांच महिलाएं भी शामिल थी. इन नक्सलियों पर 31.50 लाख रुपये का इनाम था. यह भी पढ़ें- महाराष्ट्र: गढ़चिरौली में पांच महिलाओं समेत छह नक्सलियों ने किया आत्मसमर्पण, 31 लाख रुपये का था इनाम

इससे पहले इसी साल महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में नक्सलियों ने 15 पुलिसकर्मी सहित एक ड्राइवर को मौत घाट के उतार दिया था. नक्सलियों द्वारा किए गए हमले में विस्फोट पदार्थ से सड़क पर एक विशाल गड्ढा बन गया था. इस हमले से पहले नक्सलियों ने एक सड़क निर्माण कंपनी के 27 वाहनों में आग लगा दी थी.

वहीं पिछले रविवार को पुलिस के साथ मुठभेड़ में दो नक्सली मारे गए थे, जबकि कम से कम पांच अन्य घायल हो गए थे. मारे गए दोनों नक्सलियों पर चार-चार लाख रुपये का इनाम था. इस घटना की जानकारी एक अधिकारी ने दी थी. अधिकारी के अनुसार मुठभेड़ गढ़चिरौली से करीब 170 किलोमीटर दूर नरकसा वनक्षेत्र में उस समय हुई जब महाराष्ट्र पुलिस की नक्सल विरोधी विशेष इकाई सी-60 कमांडो इलाके में गश्त कर रही थी.

पाकिस्तान: पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ के लिए बड़ा झटका, मुकदमे से जुड़ा ब्योरा देने से इमरान सरकार का इनकार

इस्लामाबाद: पाकिस्तान की सरकार ने पूर्व राष्ट्रपति जनरल (सेवानिवृत्त) परवेज मुशर्रफ (Pervez Musharraf) के खिलाफ राजद्रोह के आरोप में मुकदमा चलाने के लिए अनुबंधित की गई लीगल टीम के विवरण की मांग करने वाले एक आवेदन को खारिज कर दिया. जियो न्यूज के अनुसार, कानून मंत्रालय ने शुक्रवार को मुशर्रफ से जुड़े ब्योरे को गोपनीय बताते हुए जानकारी देने से इनकार कर दिया और आवेदक की फीस वापस कर दी. पाकिस्तानी नागरिक मुख्तार अहमद अली ने आमतौर पर आरटीआई कानून के रूप से चर्चित सूचना का अधिकार अधिनियम 2017 के तहत इस बाबत विवरण मांगा था. साथ ही वह यह जानना चाहता था कि जनता जो टैक्स भरती है, उसका इस्तेमाल किस विवेकपूर्ण ढंग से मंत्रालय द्वारा किया जा रहा है.

जियो न्यूज ने आवेदक अली के हवाले से कहा कि मंत्रालय ने उन्हें इस प्रकार की जानकारी प्राप्त करने के अयोग्य करार दिया. अपने जवाब में, मंत्रालय ने 1993 में जारी एक कैबिनेट डिवीजन अधिसूचना का उल्लेख करते हुए जानकारी देने से मना किया. आवेदन के जवाब में मंत्रालय की ओर से यह भी कहा गया है कि मंत्रालय गोपनीय जानकारियों को साझा करने के लिए बाध्य नहीं है और उसे इससे छूट दी गई है. यह भी पढ़े: परवेज मुशर्रफ ने दी भारत को धमकी, कहा- कश्मीर पाकिस्तान के खून में है, आखिरी बूंद तक लड़ेंगे

मंत्रालय ने कहा, “यह गोपनीय मामले के अंतर्गत आता है, इसलिए इस पहलू पर आपके अनुरोध को अस्वीरकार किया जाता है. एक महीने पहले ही अली ने आवेदन में चार सवालों के जवाब मांगे थे. उन्होंने वकीलों की टीम के सदस्यों की सूची और संविधान के अनुच्छेद 6 के तहत मुशर्रफ के मुकदमे के लिए संलग्न प्रासंगिक कानून फर्मों और उन्हें भुगतान की गई फीस से जुड़ी जानकारी देने के लिए कहा था. इसके अलावा अली ने अन्य खर्चो (यात्रा, अस्थाई आवास, खाने-पीने) का भी ब्योरा मांगा था. मंत्रालय के इनकार के बाद, मुख्तार ने सरकार के खिलाफ आवेदकों द्वारा दर्ज की गई शिकायतों से निपटने के लिए आरटीआई कानून के तहत गठित एक अपील निकाय, पाकिस्तान सूचना आयोग से संपर्क किया है